Sat. Jan 22nd, 2022
varanasi
varanasi

varanasi शहर एक प्राचीनतम शहर के रूप में भी जाना जाता हे। वाराणसी उत्तर प्रदेश राज्य में स्थित बहुत संपन्न और व्यस्त शहर हे। लखनऊ से करीब 300 किलोमीटर दूर पर स्थित यह शहर 1535 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ हे और varanasi की आबादी 42 लाख के आसपास हे।

हिन्दू पौराणिक कथाओ में वाराणसी को काशी के नाम से दर्शाया गया हे। वाराणसी को उर्दू और भोजपुरी शब्दों के तालमेल की वजह से इसे लम्बे समय तक बनारस के नाम से भी जाना गया। लेकिन साल 1956 में बनारस का नाम आधिकारिक तोर पर वाराणसी बदल दिया गया। आज यह शहर पुरे विश्व में वाराणसी नाम से ही जाना जाता हे।

बनारस शहर वरण और अशी नदी के बीचमे स्थित हे इसी वजह से इसका नाम वाराणसी रखा गया। यह दोनों नदिया banaras से गुजरती गंगा नदी में मिलती हे।

बनारस कहो काशी कहो या वाराणसी कहो एक ही हे। वाराणसी शहर उत्तर प्रदेश का ही नहीं समग्र भारत का सांस्कृतिक,आध्यात्मिक और धार्मिक राजधानी के रूप में प्रतिष्ठित हे। यह शहर पौराणिक काल से हिन्दुओ की धार्मिक नगरी रहा हे। यहाँ पर प्राचीन समय में संस्कृत भाषा का व्यापक रूप से प्रयोग किया जाता था लेकिन मौजूदा समय में यहाँ पर हिंदी और भोजपुरी भाषा का प्रयोग ज्यादा किया जाता हे।

यह शहर सिर्फ हिन्दुओ के लिए ही महत्वपूर्ण नहीं हे। कई और धर्मो में भी यह शहर अपना अलग ही स्थान रखता हे। इस शहर के साथ बौद्ध,जैन,आर्य और मुस्लिमो का भी गहरा संबंध रहा हे।

बनारस शहर दुनिया के प्राचीनतम शहरों में शामिल हे। इसकी प्राचीनता के बारे में प्रसिद्ध अमेरिकी लेखक मार्क ट्वेन लिखते हे “बनारस इतिहास से भी पुराना है, परंपराओं से भी पुराना है, किंवदंतियों से भी प्राचीन है और जब इन सबको एकत्र कर दें, तो उस सभी से दोगुना प्राचीन है।”

बनारस शहर का पहला जिक्र हमें महाभारत में मिलता हे। बनारस शहर की प्रतिष्ठा बहुत हे साथ ही साथ इस शहर से हिन्दू धर्म की पवित्र नदी गंगा बहती हे जिससे इसकी प्रतिष्ठा और भी ज्यादा बढ़ जाती हे। यह सहर पौराणिक काल से ही शिक्षा और सांस्कृतिक गतिविधिओ का केंद्र रहा हे। इस शहर को ज्यादत हिन्दू मोक्ष नगरी भी कहते हे उनका मानना हे के इस शहर में वास करने मात्र से मोक्ष मिलता हे।

बनारस शहर में कई हिन्दू और जैन मंदिर हे कई घाटों और अन्य दर्शनीय स्थल की वजह से यहाँ पर पुरे साल पर्यटकों की भीड़ लगी रहती हे। यहाँ पर भारतीय पर्यटकों के साथ ही बहुत बड़ी मात्रा में विदेशी पर्यटकों का भी आना जाना लगा रहता हे। इसी वजह से यह शहर उत्तर प्रदेश में ताजमहल के बाद दूसरा सबसे ज्यादा विदेशी पर्यटकों का आकर्षित करने वाला शहर हे।

इतिहास – Hisrory Of varanasi

इस शहर का इतिहास बहुत ही ज्यादा पुराना हे लेकिन हिन्दू मान्यताओं और हिन्दू पौराणिक कथाओ के मुताबिक इस शहर की स्थापना आजसे तक़रीबन 5000 साल पहले भगवान शिव द्वारा करि गई थी। भगवान शिव द्वारा स्थापिक की गई हे इसी लिए यह नगरी हिन्दुओ के लिए एक पवित्र तीर्थ स्थल हे। हिन्दू धर्म में सात नगरी हे जो की बहुत ही पवित्र और पूजनीय हे। इन्हे सप्तपुरी से भी जाना जाता हे। kashi शहर उन सात नगरी में से एक हे। उन सात नगरों के नाम हे अयोध्या,मथुरा,माया(हरिद्वार),काशी(वाराणसी),काची(कांचीपुरम),अवंतिका(उज्जैन) और द्वारावती(द्वारका) ।

इस शहर का पहला जिक्र हमें महाभारत में मिलता हे। महाभारत के साथ साथ इसका जिक्र हमें रामायण,स्कन्द पुराण और वेदो में भी मिलता हे। कई इतिहासकर इसको 3000 साल पुराना शहर मानते हे। लेकिन हिन्दुओ की मान्यता के मुताबिक यह शहर 5000 साल से भी अधिक प्राचीन हे। गौतम बुद्ध के समय में यह शहर कशी साम्राज्य की राजधानी रह चूका हे। एक चीनी यात्री ह्येन त्सांग ने इस शहर को धार्मिक,आध्यात्मिक और कलाओ का महत्वपूर्ण केंद बताया हे। यह शहर ईसा पूर्व की छठी सताब्दी में एक समृद्ध और महत्वपूर्ण शहर बन चूका था।

Other Post


Did You Know About Aurangabad : Top 4 Beautiful Aurangabad Tourist Places

Golconda Fort : Full History Of Golconda And Amazing Fact [2021]

Alleppey Kerala > Full History And Best Places To Visit [2021]

Khajuraho Temple > Full History Of Khajuraho Temple [2021]

वाराणसी में घूमने लायक जगह – Places To Visit In Banaras

गंगा नदी – Ganga river

हिन्दू देवी गंगा के नामसे बाह रही गंगा नदी भारत में सबसे पवित्र नदिओं में से एक हे। यह नदी उत्तर में हिमालय से बंगाल की कड़ी तक बहती हे। 40 से 50 करोड़ लोग प्रतिदिन नहाने और पानी के लिए गंगा नदी पर निर्भर हे।

पूरी दुनिया से हिन्दू धर्म के लोग अपने आपको शुद्ध करने के लिए और पवित्र गंगा नदी में डुबकी लगाने के लिए वाराणसी में स्थित घाटों पर आते हे। पर्यटकों के लिए गंगा नदी शहर के आसपास घूमने के लिए एक बहुत ही अच्छा विकल्प हे।

वाराणसी में जल्दी उठना और गंगा नदी के किनारे पर से सूर्योदय का मजा लेना एक अदभुत और मजेदार सुबह का आगमन करता हे।

दशाश्वमेध घाट – Dasashwamegh ghat

दशाश्वमेध घाट का अदभुत वातावरण इस जगह को वाराणसी में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगह बनता हे। आप इस जगह पर कई घंटे आराम से निकाल सकते हो यहाँ पर भी बहुत ज्यादा पर्यटकों की भीड़ लगी रहती हे।

हिन्दू पुजारिओं द्वारा दशाश्वमेध घाट पर हर शाम सात बजे गंगा आरती शुरू होती हे। इस आरती की शुरुआत शंखनाद से होती हे और यह आरती तक़रीबन 45 मिनट तक चलती हे। यहाँ पर आरती देखने के लिए इतनी ज्यादा भीड़ होती हे के अगर आपको इसका आनंद लेना हे तो आरती शुरू होने के आधे घंटे पहले ही आपको वहा पहुंच जान चाहिए।

अस्सी घाट – Assi ghat

जब वाराणसी में सबसे लोकप्रिय स्थलों की बात आती हे तो इस शहर के दक्षिण में स्थित यह घाट सबसे पहले आता हे। अस्सी घाट का सबसे बड़ा आकर्षण इस घाट में मौजूद एक अंजीर का पेड़ और इसके निचे बना एक शिव लिंग हे। यह घाट हजारो पर्यटकों को हर दिन अपनी और आकर्षित करता हे। हजारो भक्त यहाँ पर गंगा नदी में स्नान के बाद भगवान शिव की पूजा करते हे।

इस घाट पर सुबह योग कर सकते हो। यहाँ पर आपको कई लोग सुबह दौड़ते भी मिलेंगे। आप इस घाट पर भी गंगा आरती देख सकते हो। लेकिन दशाश्वमेघ घाट से यह आरती थोड़ी छोटी होती हे।

मणिकर्णिका घाट – Manikarnika Ghat

मणिकर्णिका घाट के आसपास आपको आसमान में धुआँ धुआँ ही दिखाई देगा। क्यों की इस घाट पर रोज के तक़रीबन 100 से ज्यादा दाह संस्कार किये जाते हे। हिन्दुओ का मानना हे की इस घाट में किये गए दाह संस्कार से व्यक्ति को मोक्ष की प्राप्ति होती हे। इसी वजह से यह पर मृत देहो की लाइन लगी रहती हे। इस घाट पर अंतिम संस्कार की चिटा चौब्बिसो घंटे जलती हे।

धमेक स्तूप – Dhamek Stup

वाराणसी भले ही हिन्दू धर्म का महत्त्वपूर्ण स्थान हो लेकिन यहाँ पर बोध धर्म का भी इतना ही प्रभुत्व हे। वाराणसी से 12 किलोमीटर दूर सारनाथ गांव हे जहा पर बौद्ध धर्म की बड़ी मौजूदगी हे। इस गांव में आपको धमेक स्तूप मिलेगा जो की एक विशाल पत्थर और ईंट की सरंचना हे। जिसकी उचाई 43.6 मिटेर और 28 मीटर व्यास हे। इस स्तूप का निर्माण आज से करीब 1500 साल पहले किया गया था।
बौद्ध धर्म के लोगो का मानना हे की भगवान बुद्ध ने अपनी शिक्षा पूर्ण करने के बाद अपना पहला उपदेश यही पर दिया था। इसी वजह से बौद्ध धर्मं के लोगो के लिए भी यह जगह पवित्र मणि जाती हे।

श्री काशी विश्वनाथ मंदिर – kashi vishwanath temple

मणिकर्णिका घाट के पास और वाराणसी जंक्शन से लगभग चार किलोमीटर दूर पर स्थित यह पवित्र और आकर्षित मंदिर मौजूद हे। इसी मंदिर के दर्शन के लिए हिन्दू श्रद्धालु हजारो मिल का सफर करके काशी में आते हे। यह मंदिर पूर्णताः भगवान शिव को शमर्पित हे। इस मंदिर की सरंचना बहुत ही प्रभावशाली हे। इस मंदिर में तक़रीबन 800 किलो सोने की कारीगिरी की हुई हे इस वजह से इस मंदिर को “स्वर्ण मदिर” के नाम से भी जाना जाता हे। इस मंदिर की अनोखी डिज़ाइन भारत के कई अन्य मंदिरो की वास्तुकला को प्रेरित करता
हे।

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय – banaras kashi vishwanath

बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय की स्थापना 1916 में हुई थी। इसकी स्थापना के बाद यह वाराणसी के पहचान का एक बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया हे। यह विश्वविद्यालय एक साथ 25000 छात्रों को पढ़ाने के लिए सक्षम हे। इसी वजह से यह विश्वविद्यालय एशिया के सबसे बड़े विश्वविद्यालयो की सूचि में सामेल हे।

वाराणसी के आसपास कोई भी हिल स्टेशन नहीं हे। तो अगर आप वाराणसी के भीड़ भाड़ वाले माहौल से अलग होना चाहते हो तो यह आपके लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता हे। यह विश्वविद्यालय 1300 एकड़ में फैला हुआ हे जिसमे कई बाग-बगीचे हे जहा पर आप अपना समय बिता सकते हो।

रामनगर किला – Ramnagar kila

भारत में कई जगह हे जहा पर किले नहीं हे। उनमे से एक जगह वाराणसी हे वाराणसी में किले कम हे। वाराणसी से तक़रीबन 14 किलोमीटर दूर आपको रामगढ़ किला देखने को मिलेगा। इस किले का निर्माण 18 वीं सदी में किया गया था। इस किले में प्राचीन हथिआर रत्नजड़ित टेबल और खुर्शिया हुक्के और भी कई चीजे मौजूद हे। इस किले में 150 साल पुराणी खगोलीय घडी भी मौजूद हे।
इस किले में एक म्युसियम भी बनाया गया हे जहा पर आप कई पौराणिक चीजों को देख सकते हो।

5 thoughts on “varanasi banaras : 9 attractive places to visit in varansi”
  1. […] varanasi banaras : 9 attractive places to visit in varansi […]

  2. […] Golconda Fort : Full History Of Golconda And Amazing Fact [2021]Varanasi Banaras : 9 Attractive Places To Visit In Varansi […]

  3. […] Varanasi Banaras : 9 Attractive Places To Visit In Varansi […]

  4. […] Varanasi Banaras : 9 Attractive Places To Visit In Varansi […]

  5. […] Varanasi Banaras : 9 Attractive Places To Visit In Varansi […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *