Sat. Jan 22nd, 2022
Darjeeling
Darjeeling

आज की इस पोस्ट में Street Traveling के सभी वाचको का स्वागत है । आज हम बात करेंगे Darjeeling (दार्जिलिंग) के बारे में। हम दार्जिलिंग में घूमने लायक जगह (Places To visit In darjeeling), दार्जिलिंग में जाने का सबसे अच्छा समय (Best Time To visit Darjeeling ), और दार्जिलिंग के इतिहास के बारे में जानेगे। आप सभी से गुजारिस हे की हमारी इस पोस्ट को पूरा पढ़िए और दोस्तों में शेर करे। उम्मीद हे की आपको Darjeeling पर बानी यह पोस्ट पसंद आयेगी।

दार्जिलिंग के बारे में – About Darjeeling

कोनसे राज्य में स्थित (Darjiling Located in) : पश्चिम बंगाल

दार्जीलिग की स्थानीय भाषा (darjiling Local language) : हिंदी,गोरखा,बंगाली,नेपाली,तिब्बती,अंग्रेजी

स्थानीय परिवहन (Local Transport) : सरकारी बस,कार,मोटर साइकिल

दार्जीलिग का पहनावा (Dress of Darjeeling) : दार्जीलिग में मुख्य दो जातीआ हे जिनमे से एक गोरखा और दूसरी लेपचा। गोरखा जाती के पुरुष भोतो, दौरा सुरुवाल और ढाका टोपी पहनते हे। वही उनकी औरते ज्यादातर चोला और साड़ी पहनती हे।

वही दूसरी जाती लेपचा में पुरुष दुमप्रा नमक पहनावा पहनते हे और औरते डुमडेम नमक पहनावा जोकि घुटने तक आता हे। यहाँ पर तिब्बती महिलाए गहरे रंग की लम्बी ड्रेस पहनते हे साथ ही लॉन्ग स्लीव ब्लाउस पहनती हे उसका यहाँ की प्रादेशिक भाषा में चुबा और बक्कू कहा जाता हे।

दार्जिलिंग के प्रसिद्द खान-पान (Famous food and drink of Darjeeling) : अगर आप दार्जीलिग घूमने जाते हे तो हम आपको बताएगे दार्जीलिग में खान-पान में क्या आपको चखना चाहिए।

दार्जीलिग में वैसे तो कई ऐसी चीज हे जो आप वह पर खा सकते हो लेकिन उनमे से सबसे प्रसिद्ध वहा के मोमोस,थुपका,तिब्बती चाय,छांग,आलूदम,शेल रोटी,तोंगबा और तिब्बती नूडल्स हे जो यहाँ पर ज्यादा मात्रा में खाए जाते हे।

दार्जीलिग की प्रसिद्ध तिब्बती चाय जिसका स्वाद नमकीन होता हे। हे ना मजेदार बात तो वह जाकर इस नमकीन चाय को पीना मत भूलिएगा।

दार्जिलिंग की प्रसिद्ध घूमने लायक जगह – Famous places to visit in Darjeeling

भारत में विविध संस्कृति और भरपूर प्राकृतिक स्थलों का भंडार हे। भारत में हर तरह के पर्यटक स्थल मोजूद हे यहाँ पर हिल स्टेशन,बीच,दरियाई पर्यटक स्थल,पहाड़,घटिआ,रन,गुफाए,बर्फीली वादी सभी तरह के पर्यटक स्थल मौजूद हे इसी लिए भारत उन पर्यटकों के लिए सबसे अच्छी जगह हे जो इन सभी तरह की जगहों को घूमना चाहते हे।

अगर आप हिमालय प्रेमी हो यानि आपको पहाड़ो और खूबसूरत घाटीआ देखना का शोख हे तो आप दार्जीलिग घूमने के लिए जा सकते हे। दार्जीलिग में आपको पहाड़ो और घाटिओ के साथ साथ हरी भरी वादि और चाय के बागान देखने को मिलते हे। दार्जीलिग भारत के पश्चिम बंगाल राज्य में स्थित हे यह पश्चिम बंगाल का एक बहुत महत्वपूर्ण और सुन्दर शहर हे। प्रकृति प्रेमिओ के लिए दार्जीलिग सबसे अच्छा स्थल हे। दार्जिलिंग का रमणीय और आह्लादक वातावरण आपके मन को शांत और प्रफुल्लित कर देता हे। यहाँ पर बिताए दिन आपकी चिंता और तनाव से आपको मुक्ति दिला सकते हे।

वैसे तो दार्जीलिग में देखने लायक कई जगह हे जहा आप अपनी छुट्टियों को यादगार बना सकते हो लेकिन दार्जीलिग के तीन मुख्य पर्यटक स्थल हे जो सबसे ज्यादा पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करते हे।

सबसे पहला आकर्षण हे विश्व की तीसरी सबसे ऊँची छोटी कंचनजंगा जो की दार्जीलिग से महज 70 किलोमीटर की दुरी पर स्थित हे। आपको बतादे के दार्जीलिग से सिक्किम की राजधानी गैंगटॉक भी 90 किलोमीटर ही स्थित हे तो अगर आप दार्जीलिग तक घूमने जाते हो तो गंगटोक भी आपके लिए एक अच्छा स्थल हो सकता हे।

दूसरा आकर्षण हे विश्व विख्यात दार्जीलिग हिमालियन रेलवे। यह एक बहुत ही छोटी रेलवे लाइन सर्विस हे जो दार्जीलिग के पर्वतो से गुजरती हे। इस रेलवे सफर में आप दार्जीलिग के प्राकृतिक दृश्यों का अदभुत नजारा देख सकते हों।

और तीसरा दार्जीलिग का आकर्षण हे यहाँ के हरे भरे चाय के बागान। मतलब जब आप यहाँ के इस बागान को देखेंगे तो आपको एक अलग और रोमांचित अहसास होगा। दार्जीलिग के यह चाय के बागान विश्व प्रसिद्ध हे और दूर दूर से यात्री इन्हे देखने आते हे।

दार्जिलिंग में सर्वश्रेष्ठ पर्यटक आकर्षण – Best Tourist Attraction in Darjeeling

Darjeeling,Places To visit In darjeeling

दार्जीलिग नाम तिब्बती शब्दपार्स आया हे जिसमे दोर्जे का अर्थ व्रज(जो की इन्द्र का राजदंड था) और लिंग का मतलब स्थान या भूमि हे। इसीलिए इसका मतलब व्रज की भूमि होता हे। दूसरा इसे तुफानो की भूमि भी कहा जाता हे।

दार्जीलिग भारत के सबसे खूबसूरत जगहों में से एक जगह हे जो की 6710 फिट की ऊंचाई पर स्थित हे। पहले दार्जीलिग सिक्किम का एक महत्वपूर्ण हिस्सा था। जब कभी सिक्किम एकअलग स्वतंत्र राज्य था। कुछ समय के लिए दार्जीलिग नेपाल का भी हिस्सा रहा हे।

Tiger Hill Darjeeling – टाइगर हिल

टाइगर हिल दार्जिलिंग का प्रमुख पर्यटक स्थल है. टाइगर हिल पर पुरे दिन मे हजारों पर्यटको का आना जाना लगा रहता है. अपने नाम की ही तरह यह हिल विशाल और अदभुत है. टाइगर हिल दार्जिलिंग से सिर्फ 11 किलोमीटर की दुरी पर ही स्थित है. टाइगर हिल कंचनजंगा के बाद दार्जिलिंग की सबसे ऊँची जगहों मे शामिल है.

टाइगर हिल की ऊंचाई तक़रीबन 8482 फ़ीट है. यह अनोखी और खूबसूरत हिल अपने आप मे बहुत ही ज्यादा सुंदर है. मे यकीन के साथ कहे सकता हु के आप यहाँ कर जाके अपने मन को प्रफुल्लित और शांत कर सकते है. इस हिल की चोटी पर बैठ कर आप पुरे दार्जिलिंग का नजारा देख सकते हो. यहाँ पर बैठ कर आपको दार्जिलिंग एक बहुत छोटा और खिलौना जैसा लगेगा. इस हिल पर शाम को बिताया पल बहुत आहलादक होता है.

इस हिल पर जाने का सही समय सर्दी के मौसम मे है. सर्दी की मौसम मे यहाँ पर सुंदर बर्फ की चादर ढक जाती है. मानो आप स्वर्ग मे पहुंच गए हो. यहाँ पर सर्दी की मौसम मे बर्फ से पुरे ढंके शहर को इस चोटी पर से देखने का मजा ही कुछ अलग होता है.

Batasiya Loop Darjeeling – बतासिया लूप

यह एक विशाल और घुमावदार रेलमार्ग हे जिसकी गिनती दार्जिलिंग के प्रमुख पर्यटक स्थान में की जाती हे यह लूप शहर से तक़रीबन पांच किलोमीटर की दुरी पर स्थित हे। इस लूप का निर्माण बहुत कठिन था क्युकी इसका निर्माण पहाड़ो को काटकर और उसकी भूमि को समतल कर के किया गया हे।

बतासिया लूप में सफर करके आपको एक रोमांचित अनुभव होता हे। क्युकी इसके सफर के दौरान आप विश्व की तीसरी सबसे बड़ी छोटी कंचनजंगा का सुन्दर और आह्लादक नजारा देख सकते हो।

इस बतासिया लूप को टॉय ट्रेन भी कहा जाता हे। इसके निर्माण की शुरुआत 1919 में की गई थी। आप इसी टॉय ट्रैन के जरिये भारत के सबसे ऊँचे रेलवे स्टेशन “धूम” तक दार्जिलिंग से पहुंच सकते हो।

यह बतासिया लूप 50000 वर्ग फिट में बनाया गया हे। जिसको एक बहुत सुन्दर बाग़ का रूप दिया गया हे। इस पुरे बाग़ को आप तोय ट्रैन में बेथ कर देख सकते हो। यहाँ पर बिच में गोरखी स्वतंत्रता सेनानियों की याद में युद्ध स्मारक भी बनाया गया हे जिनके नाम ग्रेनाइट पत्थर से अंकित किये गई हे।

Other Post

Golconda Fort : Full History Of Golconda And Amazing Fact [2021]

Alleppey Kerala > Full History And Best Places To Visit [2021]

Khajuraho Temple > Full History Of Khajuraho Temple [2021]

Varanasi Banaras : 9 Attractive Places To Visit In Varansi

Great Himalayan Railway – हिमालयन रेलवे

हिमालयन रेलवे लाइन दार्जिलिंग के प्रमुख पर्यटक आकर्षणों में से एक हे। इस रेल लाइन को दार्जिलिंग की आयरन लेडी भी कहा जाता हे। अगर आपने दार्जिलिंग जाने का मन बना ही लिया हे तो आपको इस रेल लाइन का मजा तो जरूर उठाना चाहिए। अगर आपको दार्जिलिंग का पूरा नजारा देखना हो और साथ में पहाड़ो का नजारा देखना हो तो आपको इस हिमालयन रेलवे का सफर करना ही पड़ेगा।

DHR यानि दार्जिलिंग हिमालयन रेलवे जिसकी रेलवे लाइन दो फिट चौड़ी हे।इस रेलवे लाइन का निर्माण 1879 से 1881 के बिच अंग्रेजो द्वारा करवाया गया था। उस समय के दौरान अंग्रेजो के लिए दार्जिलिंग एक प्रमुख पर्यटक स्थल हुआ करता था। एक यह वजह हो सकती हे की दार्जिलिंग में इस रेलवे लाइन को खूबसूरत नजारा देखने के लिए बनाई गई हो।

इस रेल लाइन की कुल लम्बाई 78 किलोमीटर की हे। और इस लाइन में कोयले वाले इंजन भी इस्तेमाल होते हे। आपको जानकर ताज्जुब होगा के इस रेल लाइन को UNESCO द्वारा विश्व विरासत साइट का दर्जा दिया गया हे।

Objervetry Hill Darjeeling – आब्जर्वेटरी हिल

ऑब्जर्वेटरी हिल नाम से ही पता चल जाता हे की आप यहाँ से पुरे दार्जिलिंग को ऑब्ज़र्व यानि देख सकते हो। यह दार्जिलिंग की प्रमुख हिल हे जो पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करती हे। यह हिल दार्जिलिंग में मोल रोड के पास स्थित हे। यह हिल अपनी मनमोहक सुंदरता और अपने बेहत सुन्दर और घुमावदार पहाड़ी रास्तो के लिए प्रसिद्ध हे। इस हिल पर आप महाकाल का मंदिर भी देख सकते हो जोकि यहाँ पर बहुत प्रसिद्ध हे। इसके साथ साथ यहाँ पर तिब्बती स्मारक भी हे जिसे आप देख सकते हो।

महाकाल के मंदिर तक जाने के लिए आपको इस हिल पर 15 मिनट की चल के चढ़ाई करनी पड़ेगी। लेकिन आपका चल न व्यर्थ नहीं जाएगा इस की चोटी पर आपको प्रकृति का एक अदभुत और अविश्वशनीय नजारा देखने को मिलेगा।

Shrubberry Nightingale Park – श्रुबेरी नाइटिंगेल पार्क

दार्जिलिंग में मॉल क्षेत्र से दस मिनट की दुरी पर स्थित यह श्रुबेरी नाइटिंगेल पार्क दोस्तों और परिवारजनों के साथ घूमने का बेहत ही सुन्दर पार्क हे। यह पार्क आराम से टहलने के लिए और यहां पर बैठ कर हिमालय और कंचनजंगा की बर्फीली चोटीओ का नजारा देखने के लिए उत्तम स्थान हे। ज्यादातर यहाँ पर भीड़ लगी रहती हे लेकिन जिस सीज़न में पर्यटक ज्यादा आते हे उस वक्त यहाँ पर स्थानीय नृत्य और नेपाली सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता हे। साल 1900 के समय में यह स्थान सर थॉमस टार्टन के बंगले का आँगन था जिसे ध श्रुबेरी के नाम से जाना जाता था।

50 से 60 के दशक में यह पार्क अपनी सुंदरता के कारन बॉलीवुड फिल्मो के लिए एक अच्छा विकल्प बन गया था।

Sakya Monastery – सक्या मठ

सक्या मठ दार्जिलिंग में देखने लायक धार्मिक स्थलों में से एक प्रमुख स्थल हे। जो की दार्जिलिंग से 8 किलोमीटर के दुरी पर स्थित हे। यह मठ तिब्बती लोगो का प्रमुख धार्मिक स्थल हे। सक्या मठ तिब्बतियन में पिली टोपी पहन ने वाले समुदाय से सम्बंधित हे। इस मठ का नाम यिगा चोर्लिंग के नाम पर से रखा गया हे।

सक्या मठ बहुत ही सुन्दर और शांत जगह हे। इस मठ में 15 फिट ऊँची बौद्ध भगवन की मूर्ति हे। और इस मठ की बहार की संरचना मंगोल ज्योतिषी सोकोपो शेरबा ने बनाई थी।

Padmaja Naidu Himalayan Zoological Park – पद्मजा नायडू हिमालयन प्राणी उद्यान

पद्मजा नायडू हिमालयन प्राणी उद्यान दार्जिलिंग में स्थित हे। यह उद्यान कुल 67.56 एकड़ में फैला हुआ हे। यह उद्यान भारत में सबसे ऊँची जगह पर बने उद्यानों में आता हे यह उद्यान 7000 फ़ीट की ऊंचाई पर बना हुआ हे।

इस उद्यान का नाम सरोजिनी नायडू की बेटी पद्मजा नायडू के नाम पर रखा गया हे। इस पार्क को रेड पांडा के कार्यक्रम के लिए सेन्ट्रल जू ऑथोरिटी ऑफ़ इंडिया के अधीन बनाया गया हे।

इस पार्क में कई लुप्त होने वाली वन्य प्रजातिओ को सुरक्षित रखा गया हे। इस पार्क में आपको रेड पांडा,हिम तेंदुए,तिब्बतीय भेड़िये,काळा भालू,कलाउडर तेंदुआ,नीली भेड़ और अन्य लुप्त होने वाली प्रजातियां देखने को मिलेगी।

इस पार्क को बहुत ही अच्छी तरीके से बनाया गया हे साथ ही इसका देखभाल भी बहुत अच्छी तरह से रखा जाता हे। इसी के चलते इस पार्क को भारत के सबसे अच्छे राष्ट्रीय उद्यान की लिस्ट में सामेल किया जाता हे।

Tea Gardens Darjeeling- चाय के बागान

अगर आप दार्जिलिंग का दौरा करते हो और आपने दार्जिलिंग के चाय के बागान नहीं देखे तो आपकी यात्रा बिलकुल अधूरी हे यह ऐसा होगा जैसे चाय में चीनी कम।
पूरी दार्जीलिग की खेती में उपयोग होने वाली 80 प्रतिशत भूमि पर चाय की खेती होती हे। और यह 80 प्रतिशत हिस्सा तक़रीबन 17000 से 18000 वर्ग क्षेत्र में फैला हे। यहाँ के पहाड़ो की ढलान पर बने यह चाय के बागान किसी जन्नत से कम नहीं दीखते। यहाँ पर बिताया हर पल आपके शरीर को चाय की सुगंध से मनमोहित कर देती हे।

दार्जिलिंग में कई तरह की चाय का उत्पादन किया जाता हे। लेकिन यहाँ की जो ओरिजिनल चाय होती हे वो अफ़सोस हमारे पास नहीं पहुंचती। इसका मुख्य खरीददार ब्रिटिश का शाही परिवार हे। यह चाय बहुत ही महॅगी होती हे इस चाय को हर कोई नहीं खरीद सकता इसी वजह से हमारे देश में बानी यह चाय हम जैसे नागरिक नहीं चख सकते।

दार्जिलिंग के प्रसिद्ध खाद्य पदार्थ

  • थुकपा – thupka
  • पारंपरिक नेपाली थाली – Traditional Nepali Thali
  • नागा व्यंजन – Naga Cuisine
  • चुरपी – churpee
  • मोमोज – momos
  • आलू दम – Aloo dum
  • सेल रोटिस – Sael Rotis
  • चांग – chaang
  • शाफले – Shaphalay
  • दार्जिलिंग चाय – Darjeeling Tea

दार्जिलिंग के मशहूर बाजार

  • लेदर बैग, वुलंस, बुक्स, हस्तकला की वस्तुओ के लिए – Nehru Road Darjiling Darjiling
  • घर सजाने की वस्तुएं और फेमस दार्जिलिंग चाय के लिए – batasiya Loop Darjiling
  • तिब्बती हस्तशिल्प की वस्तुएं, सिंगिंग बेल्स, प्रार्थना झंडे, थंगास के लिए – dhoom Monastery Darjiling
  • शिकार की वस्तुएँ, पेंटिंग्स, चप्पलें लेने के लिए – Tista Bajar Darjiling
  • फैंसी जूलरी, ऊनी कपड़े, शॉल, स्कार्फ और अन्य चीजों के लिए – Mall Raod Darjiling


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *